टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 11 मई 2020

Advertisements

Advertisements

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 11 मई 2020 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय और कोरोना वायरस आदि शामिल हैं.

यूपी सरकार के अनुसार इस ऐप को लॉन्च करने का उद्देश्य इन मजदूरों को विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलाना है. साथ ही ऐप की सहायता से मजदूरों के स्वास्थ्य पर निगरानी रखने में भी सहूलियत होगी. यह ऐप मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा राजस्व विभाग, राहत आयुक्त कार्यालय, उत्तर प्रदेश द्वारा तैयार किया गया है.

इस ऐप की मुख्य विशेषता यह भी है कि इसमें ऑनलाइन के साथ-साथ ऑफलाइन भी काम कर सकते हैं. इसके अलावा प्रभावी निर्णय लेने के लिए ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के लोगों के डेटा को भी ऐप में अलग-अलग किया जा सकता है.

 

विश्वभर की रेटिंग एजेंसियां भारत की अर्थव्यवस्था ग्रोथ को लेकर चिंता जाहिर की है. एजेंसी ने कहा कि भारत की रेटिंग पर नेगेटिव आउटलुक से जोखिम बढ़ रहे हैं और आर्थिक, संस्थागत मुद्दों के लिहाज से जीडीपी की वृद्धि पहले की तुलना में काफी कम रहेगी.

मूडीज ने चेतावनी दी कि कोरोनावायरस महामारी से लगा झटका आर्थिक वृद्धि में पहले से ही कायम नरमी को और बढ़ा देगा. इसने राजकोषीय घाटे को कम करने की संभावनाओं को पहले ही कमजोर कर दिया है. मूडीज के अनुसार, इस महामारी का देश की आर्थिक स्थिति पर बड़ा प्रभाव पड़ना तय है.

 

भारतीय रेलवे ने अब तक देश भर में आवश्यक वस्तुओं के परिवहन के लिए अपनी मालगाड़ी सेवाओं का परिचालन जारी रखा था और भारतीय ‘विशेष श्रमिक’ ट्रेने चलाकर फंसे हुए प्रवासी कामगारों को उनके गृह राज्यों में पहुंचाया था.

भारतीय रेलवे द्वारा जारी किए गए बयान के अनुसार, यात्रियों को इन विशेष ट्रेनों में यात्रा करने पर कुछ सावधानियां बरतनी होंगी. यात्रियों को अपनी यात्रा शुरू करने से पहले स्टेशन पर अनिवार्य रूप से फेस मास्क पहनना होगा और स्क्रीनिंग प्रक्रिया से गुजरना होगा.

 

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय इस दिन प्रत्येक साल राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस मनाता है. प्रौद्योगिकी एवं विज्ञान मंत्रालय के द्वारा उनके विभाग में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कराये जाते हैं. इस दिवस को तकनीकी रचनात्मकता, वैज्ञानिक जांच, उद्योग और विज्ञान के एकीकरण में किये गये प्रयास के प्रतीक माना जाता है.

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस की शुरुआत साल 1998 में हुए पोखरण परमाणु टेस्ट से हुई थी. भारत ने साल 1998 में ’11 मई’ के दिन ही अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में अपना दूसरा सफल परमाणु परीक्षण किया था. यह परमाणु परीक्षण पोखरण, राजस्थान में किया गया था.



Advertisements


Source link

0 Comments

Subscribe to Government Job Alert

Enter your email address to subscribe to site and receive notifications of new posts by email.

Advertisements

Get Free Job Updates

Enter your Email to get daily free job updates